चैतन्य शर्मा

My photo
मैं चैतन्य एक बहुत अच्छा बच्चा हूँ | मैं 9 साल का हूँ | मुझे ड्राइंग-कलरिंग करना बहुत पसंद है | मैं क्लास V में पढ़ता हूँ और माँ को कभी परेशान नहीं करता | मुझे डांस करना बेहद पसंद है | स्कूल में मुझे सब बहुत पसंद करते हैं | यह ब्लॉग 5 साल पहले मेरी माँ डॉ. मोनिका शर्मा ने बनाया था । अब मैं खुद अपने पोस्ट ब्लॉग पर शेयर करता हूँ । इस ब्लॉग पर मैं अपनी सारी बातें शेयर करूंगा |

Saturday, July 1, 2017

Bookmarks

click on the pic to read...






15 comments:

अजय कुमार झा said...

वाह बहुत ही सुन्दर ,और प्यारे बने हैं बुकमार्क्स | चैतन्य को खूब सारी शाबाशी और स्नेह

चला बिहारी ब्लॉगर बनने said...

हमेशा की तरह लाजवाब! निखार बढता रहे!! जुग जुग जियो!!

वाणी गीत said...

बहुत खूब चैतन्य...
जीते रहो.

ताऊ रामपुरिया said...

वाह चैतन्य, तुम तो देखते देखते ही इत्ते बडे हो गये. कितनी सुंदर स्केच बनाने लगे? इंतजार रहेगा तुम्हारी अगली पोस्ट्स का, बहुत प्यार.
रामराम
#हिन्दी_ब्लॉगिंग

vandana gupta said...

वाह बहुत सुन्दर बुकमार्क्स

दिनेशराय द्विवेदी said...

सुन्दर प्रयास।

anshumala said...

क्या बात है चैतन्य केवल ९ साल में ही ५ में है ,ये तो एक साल आगे चल रहा है , होशियार बच्चा |

डॉ. मोनिका शर्मा said...

@Anshumala... 9 का हो चुका है दस का नवम्बर में होगा | यानि साढ़े नौ ख सकते हैं पर प्रोफाइल में दस .. तो दस पूरा होने पर अपडेट हो पाए ना :)

रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल सोमवार (03-07-2016) को "मिट गयी सारी तपन" (चर्चा अंक-2654) पर भी होगी।
--
सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
--
चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट अक्सर नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

संध्या शर्मा said...

कितने प्यारे स्केच हैं, भोले से। ख़ूब आगे बढ़ो बेटा। ढ़ेर सारा स्नेह...

संध्या शर्मा said...

कितने प्यारे स्केच हैं, भोले से। ख़ूब आगे बढ़ो बेटा। ढ़ेर सारा स्नेह...

ऋता शेखर 'मधु' said...

स्नेह और आशीष

अर्चना चावजी Archana Chaoji said...

बहुत सुंदर मुझे पहला पसंद आया सबसे ज्यादा ... मायरा को भी सीखाना है न 👍

अन्तर सोहिल said...

बहुत सुन्दर बुकमार्क्स है चैतन्य......इनमें एक छोटा सा धागा भी डाल दो

गगन शर्मा, कुछ अलग सा said...

बहुत दिनों बाद ..........................
सदा स्वस्थ व प्रसन्न रहो।

Post a Comment

There was an error in this gadget