चैतन्य शर्मा

My photo
मैं चैतन्य एक बहुत अच्छा बच्चा हूँ | मैं 9 साल का हूँ | मुझे ड्राइंग-कलरिंग करना बहुत पसंद है | मैं क्लास IV में पढ़ता हूँ और माँ को कभी परेशान नहीं करता | मुझे डांस करना बेहद पसंद है | स्कूल में मुझे सब बहुत पसंद करते हैं | यह ब्लॉग 5 साल पहले मेरी माँ डॉ. मोनिका शर्मा ने बनाया था । अब मैं खुद अपने पोस्ट ब्लॉग पर शेयर करता हूँ । इस ब्लॉग पर मैं अपनी सारी बातें शेयर करूंगा |

Sunday, March 3, 2013

प्यारे प्यारे घर

देखिये दो चित्र | जिनमें सुंदर प्यारे प्यारे घर हैं |  मैंने इनमें रंग भरे हैं  :)





16 comments:

pankhuri goel said...

pyare chaitnaiya bahut sundar aur tumhari tarah maasoomiyat se bhare chitra hain dono ...ye chitrs dekhkar tumhare rang sanyojan ka pata chalta hai ...mujhe bahut achhe lage ..waise bhi nature aur phoolo ke kareeb mehsoos karti hu khud ko ...isliye aur bhi jyada achhe lage ..bachpan mei mai bhi aise hi chitra banati thi :-) kabhi tum bhi mere blog par aao ..haan lekin abhi tum chote ho un poems ko samjhne ke liye ..chalo koi baat nahi maine ek bhajan gaya hai wo to tum sun hi sakte ho ..aur mujhe tumhara reaction chaiye use sunne ke baad tumhari mummy already comment kar chuki hain ...ab tum sun ke batana ...bahut saara pyar :-)
मेरा लिखा एवं गाया हुआ पहला भजन ..आपकी प्रतिक्रिया चाहती हूँ ब्लॉग पर आपका स्वागत है

Os ki boond: गिरधर से पयोधर...

Yashwant Mathur said...

बहुत बढ़िया चैतन्य

रविकर said...

सूरज चन्दा से रहें, जीव जंतु चैतन्य ।

कलरव गौरैया करे, गौ गोरु सह अन्य ।

गौ गोरु सह अन्य, चमकते उपवन कुटिया।

खिलते फूल विभिन्न, फलों से भरती हटिया ।

सीधे पथ पर चले, हमेशा सच्चा बन्दा ।

रहे जगत में कीर्ति, गगन पर सूरज चन्दा ॥

Blogvarta said...

BlogVarta.com पहला हिंदी ब्लोग्गेर्स का मंच है जो ब्लॉग एग्रेगेटर के साथ साथ हिंदी कम्युनिटी वेबसाइट भी है! आज ही सदस्य बनें और अपना ब्लॉग जोड़ें!

धन्यवाद
www.blogvarta.com

Shah Nawaz said...

कितने खुबसूरत चित्र बनाए है...

रविकर said...

आपकी उत्कृष्ट प्रस्तुति का लिंक लिंक-लिक्खाड़ पर है ।।

दिनेश पारीक said...

बहुत खूब सुन्दर लाजबाब अभिव्यक्ति।।।।।।

मेरी नई रचना
आज की मेरी नई रचना आपके विचारो के इंतजार में
पृथिवी (कौन सुनेगा मेरा दर्द ) ?

ये कैसी मोहब्बत है

प्रवीण पाण्डेय said...

वाह, दोनों ही बहुत प्यारे..

G.N.SHAW said...

सजीव वातावरण | बधाई

Reena Maurya said...

nice colouring ...
beautiful....
:-)

Rajendra Kumar said...

बहुत ही सुन्दर चित्र है चैतन्य,मेरा आशीर्वाद हमेशा आपके साथ है।

MANU PRAKASH TYAGI said...

सुंदर और मेहनत से भरे चित्र

राजन said...

बहुत सुन्दर चित्र हैं।

Trupti Indraneel said...

बहुत प्यारे

कुश्वंश said...

वाह,बहुत खुबसूरत चित्र चैतन्य

Suman said...

वाह चैतन्य आपने बहुत सुन्दर रंग भरे है सच में सुन्दर :)

Post a Comment

There was an error in this gadget