चैतन्य शर्मा

My photo
मैं चैतन्य एक बहुत अच्छा बच्चा हूँ | मैं 9 साल का हूँ | मुझे ड्राइंग-कलरिंग करना बहुत पसंद है | मैं क्लास IV में पढ़ता हूँ और माँ को कभी परेशान नहीं करता | मुझे डांस करना बेहद पसंद है | स्कूल में मुझे सब बहुत पसंद करते हैं | यह ब्लॉग 5 साल पहले मेरी माँ डॉ. मोनिका शर्मा ने बनाया था । अब मैं खुद अपने पोस्ट ब्लॉग पर शेयर करता हूँ । इस ब्लॉग पर मैं अपनी सारी बातें शेयर करूंगा |

Tuesday, September 28, 2010

लाल पीले हो गए पेड़.......!

देखो पेड़ बदल रहे हैं रंग...

पीली-पीली पत्तियां
अरे नहीं नहीं.............! यह सारे पेड़ गुस्से में लाल पीले नहीं हुए हैं | यह सब तो इसलिए हो रहा है क्योंकि मौसम बदल रहा है | मैं आजकल जहाँ रह   रहा हूँ,  वहां  अभी  गर्मियां  ख़त्म  हुई  हैं और अब ठण्ड का  मौसम  आने  वाला  है | और इसी  की  तैयारी  कर  रहे हैं यहाँ के पेड़ पौधे भी | यहाँ  बहुत  ज्यादा  स्नो  गिरती  है  इसलिए  सारे  पेड़ों  के पत्ते  पहले  ही  झड  जाते  हैं |     लेकिन  पत्ते  पूरे  झड़ने  से  पहले  बहुत कलरफुल हो जाते हैं |  आजकल यह बहुत सुंदर दिख रहे हैं | सारे पेड़ पौधे कई रंगों से रंग गए हैं | इनकी पत्तियां रोज़ रंग बदल रहीं हैं | कुछ हरी हैं....कुछ लाल.... कुछ पीली..... न जाने कितने ही रंग आ गए है पेड़ों पर | मुझे यह सब देखकर बहुत अच्छा लग रहा है | पेड़ों पर ज़्यादातर हरे रंग की पत्तियां ही देखने को मिलती हैं ऐसे में यह रंग बिरंगे पेड़-पौधे बड़े प्यारे लग रहे है |


यह पौधे भी कभी हरे थे.......



हर पत्ती बदल रही है रंग........




कुछ पत्तियों ने रंग बदला....कुछ बदलेंगीं

अरे... यह पेड़ कुछ दिन पहले तो हरा था......?

इनका भी रंग बदल गया......!


ये  छोटू पौधे भी हो गए हैं रंग-बिरंगे......

जोर से हिला के देखता हूँ.......?

    देखा कितनी पत्तियां नीचे आ गिरीं..... यह पीली ही हैं भाई.......


चलो...... लाल पत्तियों वाले पेड़ को भी हिलाता हूँ......!

अब कुछ देर आराम......... पीली पत्तियों के बीच


आप मेरे पीछे सुंदर पेड़ को देखें.... मुझे कुछ स्पेशल दिख रहा है......


अरे यह तो नन्हा सा रैबिट है..... मुझे बहुत पसंद है....



13 comments:

Ashish (Ashu) said...

अरे वाह बहुत ही प्यारी प्यारी फोटो हॆ..पर तुम मत बदल जाना इस मॊसम की तरह

प्रवीण पाण्डेय said...

आप बिल्कुल हीरो लग रहे हो डियर। आपको लेकर एक फिल्म बनाने का मन है।

Babli said...

बहुत सुन्दर और मनमोहक चित्र है! बहुत प्यारे लग रहे हो! बढ़िया पोस्ट!

शुभम जैन said...

बहुत सुन्दर चित्र चैतन्य
-
-
चैतन्य को यहाँ भी देखे :
मिलिए ब्लॉग सितारों से

रंजन said...

बहुत सुन्दर.. क्या रंग है दोस्त..

प्यार..

माधव said...

bahut sundar

चैतन्य शर्मा said...

ye comment nirmala kapila aunty nahin nahin nani.... ne bheja hai.... kuch wajah se unka comment post nahin ho pa rha tha.....

'अरे क्यूटी अब तक कहाँ छुपे रहे? मुझे तो पता ही नही चला । काला टीका लगवाया? मम्मी से कहो पहले काला टीका लगवाये। हाँ मै तुम्हारी आँटी नहीं यहाँ सब बच्चों की नानी हूँ। बस फूलों की तरह हमेशखंसते रहो। बहुत बहुत आशीर्वाद।'

Akshita (Pakhi) said...

वाह, मौसम को बदलते हुए देखना कित्ता सुन्दर लगता है...प्यारी पोस्ट.

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

अरे वाह!
बहुत सुन्दर है!
--
इसकी चर्चा तो बाल चर्चा मंच पर भी है!
http://mayankkhatima.blogspot.com/2010/10/20.html

चैतन्य शर्मा said...

@ आशीष बिल्कुल नहीं बदलने वाला मैं..... !



@प्रवीण पाण्डेय वाह अंकल ..... मैं भी किसी अच्छे बैनर के इंतजार में ही बैठा हूँ....


@ बबली थैंक यू.... बबली आंटी

@ शुभम जैन आपका धन्यवाद.... और मुझे ब्लॉग सितारों में शामिल करने के लिए.... आभार

चैतन्य शर्मा said...

@ रंजन अंकल थैंक यू.....


@ माधव थैंक यू माधव.....

@निर्मला कपिला जी आपका बहुत बहुत धन्यवाद नानी....

@ पाखी... सही कह रही हो पाखी....मौसम को बदलते देख बड़ा ही अच्छा लगता है..... थैंक्स

@डॉ रूपचंद्र शास्त्री मयंक आपका बहुत बहुत धन्यवाद मयंक अंकल..... और हार्दिक आभार मेरी पोस्ट की चर्चा बाल चर्चा मंच पर करने के लिए

संजय भास्कर said...

bahut hi sunder aur manmohak chetanya

यशवन्त माथुर (Yashwant Mathur) said...

कल 14/09/2011 को आपकी यह पोस्ट नयी पुरानी हलचल पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्वागत है .
धन्यवाद!

Post a Comment

There was an error in this gadget