चैतन्य शर्मा

My photo
मैं चैतन्य एक बहुत अच्छा बच्चा हूँ | मैं 9 साल का हूँ | मुझे ड्राइंग-कलरिंग करना बहुत पसंद है | मैं क्लास V में पढ़ता हूँ और माँ को कभी परेशान नहीं करता | मुझे डांस करना बेहद पसंद है | स्कूल में मुझे सब बहुत पसंद करते हैं | यह ब्लॉग 5 साल पहले मेरी माँ डॉ. मोनिका शर्मा ने बनाया था । अब मैं खुद अपने पोस्ट ब्लॉग पर शेयर करता हूँ । इस ब्लॉग पर मैं अपनी सारी बातें शेयर करूंगा |

Monday, February 21, 2011

सुन्दर सफेद चमकते पेड़ .......!




 -30 डिग्री  तापमान और सुबह सुबह स्कूल जाना |  बस .... बाकी तो आप सब लोग समझ ही सकते हैं | अपने देश में  बसन्त के आते ही मौसम अच्छा हो गया पर जहाँ मैं हूँ अभी कुछ महीने   यही हाल रहने वाला है |  वैसे आज मैं आप सबको इस ठंडे मौसम की सैर पर ले जाने वाला हूँ | बर्फ गिरने से पेड़    बहुत सुन्दर हो गए हैं | चारों  तरफ सुन्दर सफेद चमकते  पेड़   दिख रहे  हैं | तो फिर चलिए मेरे साथ ............. 




चले आइए मेरे साथ....



 आप आ रहे हैं ना......


पत्तियों की जगह बर्फ ने ली....


सफेद पेड़ हैं कितने सुन्दर ....


हैं ना.....


इसे भी देखिए .....


बहुत सुन्दर दिख रहे हैं बर्फ ढके पेड़ .....  



यह नज़ारा देखिए ज़रा ...... 


अब मुझे बहुत ठण्ड लग रही है ........... फिर हाजिर होता हूँ .........कुछ  नई  बातों और शरारतों के साथ ..........


31 comments:

डॉ. नागेश पांडेय "संजय" said...

प्यारे चैतन्य बाबू । सर्दी के फोटो तो बहुत प्यारे हैँ . पर इन्हे देखकर तो कंपकपी छूट गई । दैया रे । इतना जाड़ा । सर्दी ने झंडा गाड़ा ।

डॉ. नागेश पांडेय "संजय" said...

प्यारे चैतन्य बाबू । सर्दी के फोटो तो बहुत प्यारे हैँ . पर इन्हे देखकर तो कंपकपी छूट गई । दैया रे । इतना जाड़ा । सर्दी ने झंडा गाड़ा ।

यशवन्त माथुर said...

बहुत ठण्ड है दोस्त! तुम अपना ख्याल रखना,मम्मी का कहना मनना और यूँ ही ढके छुपे रहना.
तुन्हारे फोटो देखकर तो कंपकपी छूट गयी और हाँ बर्फ में ढके ये पेड़ बहुत ही खूबसूरत लगे.

With Love-

सृजन पांडेय said...

very good dear friend .

Akshita (Pakhi) said...

वाह, क्या बर्फ़बारी है....मजेदार फोटोग्राफ्स.

_______________________
'पाखी की दुनिया' में 'चल मेरे हाथी'

Suman said...

nanhe dost aapse milkar bahut khushi hui..
hamesha aati rahungi.........

sm said...

beautiful pics

रावेंद्रकुमार रवि said...

इतना लबादा ओढ़ने के बाद भी कहीं ठंड लगती है?
--
ऐसे में तो इधर-उधर घूमने में ख़ूब मज़ा आता है!
--
साथ में कुछ गुनगुनाने को मिल जाए, तो कहना ही क्या?
--
बर्फ गिरी, भइ, बर्फ गिरी!
किसके ऊपर बर्फ गिरी?
.
सिर के ऊपर बर्फ गिरी
या टोपे पर से फिसली?
बर्फ गिरी, भइ, बर्फ गिरी!
--
अभी इतना ही!
पूरा हो जाएगा, तो "सरस पायस"
बुला ही लेगा पढ़ने के लिए!

राज भाटिय़ा said...

चैतन्य यार हमारे यहां भी यही हाल हे,जब रात को धुधं हो तो सुबह पेडो पर ऎसे ही सुम्ड्र नजारे दिखते हे, लेकिन बाबा हाथ भी जाकेट से बाहर निकालने को दिल नही करता ना, चल अब मई दुर नही वेसे अप्रेल मे मोसम थोडा ठीक हो जाता हे हमरे यहां

गौरव शर्मा "भारतीय" said...

चैतन्य जी ...
आज तो वाकई आपने बड़ी अच्छी सैर करायी हमें... मजा ही आ गया !!

नवीन जोशी said...

Itnee thand main aap akele, hamen to dekh kar hee thand lagne lagee,

शालिनी कौशिक said...

bahut thhandi post hai .dastane pahan kar kholna chahiye tha aapka blog.

शिवकुमार ( शिवा) said...

सर्दी के फोटो तो बहुत प्यारे हैँ . पर इन्हे देखकर तो कंपकपी छूट गई । मजेदार फोटोग्राफ्स.

Deepak Saini said...

छोटू सर्दी मे फोटो खीचते ठण्ड नही लगी
सारे फोटो अच्छे है
अपने आप को ठण्ड से बचा कर रखना
शुभकामनाये

Kailash C Sharma said...
This comment has been removed by the author.
Kailash C Sharma said...

सफ़ेद पेड़ों की यात्रा बहुत सुन्दर लगी..पर यहाँ तो फोटो देख कर ही ठण्ड लगने लगी...शुभकामनाएं

क्रिएटिव मंच-Creative Manch said...

सभी तस्वीरें खुबसूरत हैं और आप तो बहुत ही सुन्दर लग रहे हैं

आशीर्वाद

शुभम जैन said...

ufff itni thand...tashwire bahut achchci hai...dekh kar hi thand lag rhi :)

Vijai Mathur said...

ठण्ड से बचे रहना.तुम्हें अपने देश का भी ख्याल है -बड़ी खुशी हुयी.

डॉ. नूतन डिमरी गैरोला- नीति said...

बहुत सुन्दर लगा ... आपके चित्र और आपकी बात ... आप अपना ख्याल रखियेगा ... ठण्ड से बच कर रहना... शुभ कामनाएं ...
आपके फोटो शुक्रवार को चर्चामंच पर होंगे .. आपका और आपकी मम्मी मोनिका जी का आभार ..

प्रवीण पाण्डेय said...

आपको देख कर ठंड लग रही है।

बाबूलाल गढ़वाल "मंथन" said...

Bahut hi sundar चैतन्य Prabhu Kya baat hai Kash hum bhi tumahre Saath hum bhi Is Barf ka Maazz le pate hai. lakin tumane hum yaha dilli me iska Eahasas karwa diya. Iske liye Dhanayawad. Or Subhakamanaye.. Apna Khayal rakhiyega is Cool Mausam me.

VIJUY RONJAN said...

chitron ke madhayam se kahan bahut hi durooh karya hai.Apka prayas kabil e tareef hai.Badhayi..

Meri prastuti ki sarahna ke liye bhi shatshah dhanyavad.

vivek said...

Hey its superb... hats off for sharing such a good one.....

Rajey Sha said...

kya deshi aur videshi najaaro me antar hota hai..?

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

वाह!
बहुत सुन्दर!
आपकी पोस्ट की चर्चा तो बाल चर्चा मंच पर भी है!
http://mayankkhatima.blogspot.com/2011/02/34.html

सदा said...

वाह ..बहुत ही सुन्‍दर प्रस्‍तुति ।

abhi said...

वाह रे लड़का...
काश हम भी होते तुमरे साथ...मस्ती करते रे..और अच्छा से :)

चैतन्य शर्मा said...

मेरे फोटोस को पसंद करने और इतने प्यारे कमेंट्स के लिए आप सबका धन्यवाद ......

चैतन्य शर्मा said...

मयंक अंकल और नूतन आंटी और रवि अंकल आपका आभार मेरी पोस्ट को चर्चा मे जगह देने के लिए

Rakesh S said...

Ecellent posts..

Hadoop training in hyderabad.All the basic and get the full knowledge of hadoop.Hadoop online training


Post a Comment

There was an error in this gadget