चैतन्य शर्मा

My photo
मैं चैतन्य एक बहुत अच्छा बच्चा हूँ | मैं 9 साल का हूँ | मुझे ड्राइंग-कलरिंग करना बहुत पसंद है | मैं क्लास IV में पढ़ता हूँ और माँ को कभी परेशान नहीं करता | मुझे डांस करना बेहद पसंद है | स्कूल में मुझे सब बहुत पसंद करते हैं | यह ब्लॉग 5 साल पहले मेरी माँ डॉ. मोनिका शर्मा ने बनाया था । अब मैं खुद अपने पोस्ट ब्लॉग पर शेयर करता हूँ । इस ब्लॉग पर मैं अपनी सारी बातें शेयर करूंगा |

Saturday, April 21, 2012

भागीदारी निभानी ही होगी ...!

आज  वर्ल्ड अर्थ डे है, धरती माँ को बचाने और पर्यावरण के प्रति जागरूकता लाने का दिन ।  हम सब अपनी छोटी-छोटी कोशिशों से प्रकृति माँ को सहेजने में योगदान दे सकते हैं । पानी बचाना , पेड़ लगाना, गन्दगी न फैलाना , पशु-पक्षियों की रक्षा जैसे काम करके हम अपनी भूमिका निभा सकते हैं । 

हमारी ही गलतियों की वजह से धरती माँ अपनी प्राकृतिक सुन्दरता खो रही है । हमें इसे सहेजने के प्रयास करने ही होंगें । प्रकृति माँ हम सबकी माँ है। हमें हमेशा देती ही है लेती कुछ नहीं । इसे बचाने में हमें अपनी भागीदारी निभानी होगी | यह हम सबका कर्तव्य है ।  



मेरी ड्राइंग ........ प्यारी प्यारी प्रकृति माँ 

14 comments:

ऋता शेखर मधु said...

सही कहा चैतन्य...धरती माँ की रक्षा हमारी जिम्मेदारी है|
आपने तस्वीर बहुत सुंदर बनाया है...शुभकामनाएँ!

abhi said...

इतनी अच्छी ड्राविंग बानाते हो तुम :)

Vijai Mathur said...

चैतन्य अब तुम्हारी पीढ़ी के लोग ही इस कर्तव्य का पालन कर पाएंगे। वर्तमान पीढ़ी के लोग सुधरेंगे इसकी कोई उम्मीद नहीं है।

रविकर फैजाबादी said...

बहुत बढ़िया प्रस्तुति ।
आभार ।।

अरुण कुमार निगम (mitanigoth2.blogspot.com) said...

सच कहा है- भागीदारी तो निभानी ही होगी. सुंदर ड्राइंग के माध्यम से सुंदर संदेश....

Rakesh Kumar said...

चैतन्य जी आपका लेख सार्थक चेतना प्रदान कर रहा है.आपकी सुन्दर सोच को नमन.

प्रवीण पाण्डेय said...

जन्म जन्म का संबंध इसे ही कहा जायेगा।

Pankhuri Times said...

I am agree with you chaitanya bhaiya....

Vipin said...

बिल्कुल सही है.....बहुत सुंदर विचार......

"रुनझुन" said...

absolutely right चैतन्य!!
अपनी धरती माँ को बचने के लिए हम बच्चों को ही पहला कदम उठाना चाहिए....तुम्हारी ड्राइंग ने धरती माँ को बहुत खुश कर दिया होगा...:)

Sunitamohan said...

kitna achchha ho agar, sab itne jagruk ho jayen.......tumhari tarah, priya chaitanya!!

G.N.SHAW said...

जी हाँ हमें अर्थ डे ही नहीं , बल्कि हमेश धरती को खुबसूरत बनाये रखनी चाहिए !

दिगम्बर नासवा said...

सच कहा है ... कुछ न कुछ सभी करें इस धरती माँ के लिए तो कितना मज़ा आ जाये ..

चैतन्य शर्मा said...

Aap Sabko Thanks...

Post a Comment

There was an error in this gadget