चैतन्य शर्मा

My photo
मैं चैतन्य एक बहुत अच्छा बच्चा हूँ | मैं 12 साल का हूँ | मुझे ड्राइंग-कलरिंग करना बहुत पसंद है | मैं क्लास VIII में पढ़ता हूँ और माँ को कभी परेशान नहीं करता | मुझे डांस करना बेहद पसंद है | स्कूल में मुझे सब बहुत पसंद करते हैं | यह ब्लॉग 10 साल पहले मेरी माँ डॉ. मोनिका शर्मा ने बनाया था । अब मैं खुद अपने पोस्ट ब्लॉग पर शेयर करता हूँ । इस ब्लॉग पर मैं अपनी सारी बातें शेयर करूंगा |

Wednesday, August 7, 2013

Special Clicks.... Yes It Is Mumbai :)

मुम्बई शहर के अपने ही रंग हैं । यूँ तो इस शहर को कॉन्क्रीट का जंगल कहा जाता है पर मेरे घर से ये नज़ारा दिखता  है । मेरे घर की  खिड़की  से  ये वॉटरफॉल  दिखते  हैं । इन दिनों बरसात में पहाड़ी पर बादल उतरे रहते हैं , चारों  तरफ हरियाली छाई  हुयी है ……. आप भी देखिये :)








20 comments:

कविता रावत said...

बहुत सुन्दर ...मुझे तो मेरे पहाड़ का गाँव याद आने लगा ...

अनुपमा पाठक said...

वाह! आपके घर की खिड़की से तो विस्तार दीखता है!
Nice clicks!

Maheshwari kaneri said...

वाह!बहुत सुन्दर .अभी तो मुंबई में बहुत कुछ देखने को मिलेगा...शुभकामनाएं

पूरण खण्डेलवाल said...

बहुत सुन्दर !!

प्रवीण पाण्डेय said...

यह तो मुम्बई लगता ही नहीं है। आप मुम्बई की नयी धारणा स्थापित कीजिये, सबके मन में।

ताऊ रामपुरिया said...

वाकई ये मुम्बई है? लगता है तुम उल्लू पटा रहे हो दोस्त? पर हम नहीं बनने वाले.:)

रामराम.

Anupama Tripathi said...

अरे वाह चैतन्य ....सुंदर दृश्य .....हमे भी मुंबई की याद दिला दी .....!!

Kailash Sharma said...

बहुत सुन्दर...यह मुंबई तो बिल्कुल अलग है..

सुज्ञ said...

वाह बेटे, कॉन्क्रीट जंगल के किनारे पहाड की छाँव में बसाया है बसेरा.... यह मुँबई तो नई लगती है. :)

विभा रानी श्रीवास्तव said...

वाह!वाह!
बहुत सुन्दर ....
नजरिया अपना अपना होता है
साबित कर गए
हार्दिक शुभकामनाए

स्वप्न मञ्जूषा said...

अरे वाह!
ई है मुंबई नगरिया का ??

Shah Nawaz said...

हैं!!!! क्या यह वाकई मुंबई है? बढ़िया है!!! :-)

Ankur Jain said...

मुंबई को इस नज़र से विरले ही कोई देखता है...सुंदर।।।

travel ufo said...

aapka ghar kya khandala side main hai ?

Vandana Ramasingh said...

wow !! चैतन्य मजा आता होगा ना !!!

Suman said...

वाकई क्या ये मुंबई में है ?
मै भी एक बार गई थी पर ऐसे नज़ारे कही नहीं देखे !

Surendra shukla" Bhramar"5 said...

प्रिय चैतन्य जी ..वन्दे मातरम् .. ये मुंबई है खंडाला या पूना या कनाडा ?
भ्रमर ५ सत्यम

lori said...

betu!
is it Panvel in (Raighadh Dist.)?
jo bhi hai, pyara hai!! :)

Anonymous said...

हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल {चर्चामंच} के शुभारंभ पर आप को आमंत्रित किया जाता है। कृपया पधारें आपके विचार मेरे लिए "अमोल" होंगें | आपके नकारत्मक व सकारत्मक विचारों का स्वागत किया जायेगा |

G.N.SHAW said...

पर्वत के पीछे क्या वाकई मुंबई है ? घर बैठे खिड़की से लाजबाब चित्र |

Post a Comment