चैतन्य शर्मा

My photo
मैं चैतन्य एक बहुत अच्छा बच्चा हूँ | मैं 9 साल का हूँ | मुझे ड्राइंग-कलरिंग करना बहुत पसंद है | मैं क्लास IV में पढ़ता हूँ और माँ को कभी परेशान नहीं करता | मुझे डांस करना बेहद पसंद है | स्कूल में मुझे सब बहुत पसंद करते हैं | यह ब्लॉग 5 साल पहले मेरी माँ डॉ. मोनिका शर्मा ने बनाया था । अब मैं खुद अपने पोस्ट ब्लॉग पर शेयर करता हूँ । इस ब्लॉग पर मैं अपनी सारी बातें शेयर करूंगा |

Friday, April 18, 2014

मेरी डायरी

छुट्टियां शुरू हो गयी हैं । बहुत दिनों से ब्लॉग पर भी आना नहीं  हुआ । कुछ समय पहले ही मेरे   एक्ज़ाम्स ख़त्म हुए हैं । इन दिनों मैंने डायरी लिखना शुरू किया है । दिन भर में जो करता हूँ,  जहाँ भी जाता हूँ सब इसमें लिखता हूँ ।
मेरी डायरी 

छुट्टियों का लेखा जोखा 

12 comments:

ब्लॉग बुलेटिन said...

ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन १८ अप्रैल का दिन आज़ादी के परवानों के नाम - ब्लॉग बुलेटिन मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

बहुत सुन्दर प्रस्तुति।
--
आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा कल शनिवार (19-04-2014) को ""फिर लौटोगे तुम यहाँ, लेकर रूप नवीन" (चर्चा मंच-1587) पर भी होगी!
--
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

आशीष भाई said...

बढ़िया व सुन्दर , चैतन्य भाई धन्यवाद !
Information and solutions in Hindi ( हिंदी में समस्त प्रकार की जानकारियाँ )
~ ज़िन्दगी मेरे साथ - बोलो बिंदास ! ~ ( एक ऐसा ब्लॉग -जो जिंदगी से जुड़ी हर समस्या का समाधान बताता है )

shikha kaushik said...

good habit .carry on like this .congr8s

Neetu Singhal said...

सुन्दर आवरण आलेखन के प्रति आकर्षण उत्पन्न करता है, सुन्दर आलेखन लेखक के प्रति आकर्षण उत्पन्न करता है, इसमें सम्मोहन की शक्ति भी होती है.....

Yashwant Yash said...

कल 20/04/2014 को आपकी पोस्ट का लिंक होगा http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर
धन्यवाद !

आशा जोगळेकर said...

JARI RAKHO IS AADAT KO CHAITANYA BETE.

Dr.NISHA MAHARANA said...

acchhi aadat .........keep it up .....

Maheshwari kaneri said...

बढ़िया बहुत सुन्दर..हार्दिक शुभकामनाएं

Suman said...

डायरी लिखना एक अच्छी आदत है दोस्त,
लिखते रहिये :)

abhi said...

डायरी लिखा करो चैतन्य...ये अच्छी बात है...
ब्लॉग पर वापस आओ...मैं भी आ रहा हूँ अब वापस... :)

Kumar Gaurav Ajeetendu said...

बहुत अच्छा चैतन्य। डायरी लिखना अच्छी आदत है। इससे लिखने की कला का विकास होगा तुम्हारे अंदर। खूब प्रगति करो, खुश रहो :)

Post a Comment

There was an error in this gadget