चैतन्य शर्मा

My photo
मैं चैतन्य एक बहुत अच्छा बच्चा हूँ | मैं 9 साल का हूँ | मुझे ड्राइंग-कलरिंग करना बहुत पसंद है | मैं क्लास V में पढ़ता हूँ और माँ को कभी परेशान नहीं करता | मुझे डांस करना बेहद पसंद है | स्कूल में मुझे सब बहुत पसंद करते हैं | यह ब्लॉग 5 साल पहले मेरी माँ डॉ. मोनिका शर्मा ने बनाया था । अब मैं खुद अपने पोस्ट ब्लॉग पर शेयर करता हूँ । इस ब्लॉग पर मैं अपनी सारी बातें शेयर करूंगा |

Saturday, July 12, 2014

प्यारी गिलहरी

एक गिलहरी प्यारी प्यारी
भाग भाग के आती
अपने मुंह में दबा छुपा के
कितना कुछ वो लाती

झबरी पूंछ, देह पर धारी
चौकन्नी सी फिरती
उछल कूद करती वो हरदम
हंसी ख़ुशी से रहती

पकड़ हाथ में दाना चुग्गा
बैठ प्यार  से खाती
हम जो उसको पास बुलाएँ
कितना वो शरमाती

घास फूस, धागों को चुनकर
अपना घर वो बनाती
तिनके, सूखे पत्ते लाकर
घर को खूब सजाती

प्यारी प्यारी एक गिलहरी
कितना कुछ है सिखाती
करती रहती काम हमेशा
कभी न समय गंवाती             

जनसंदेश अख़बार में प्रकाशित यह प्यारी सी बाल कविता मेरी माँ ने लिखी है  | 

19 comments:

Ramakant Singh said...

गिलहरी श्री राम के कृपा पात्र और हमारे जीवन में शामिल जीव का सुन्दर चित्रण जीवन शैली लेकर मन मोहक लगा

रश्मि प्रभा... said...

बहुत ही प्यारी … नन्हीं गिलहरी सी रचना
मन को आँखों को सुकून देती

वाणी गीत said...

गिलहरी जैसी ही प्यारी कविता माँ की !!

arvind mishra said...

क्यूट सी कविता

डॉ टी एस दराल said...

बहुत प्यारी सी कविता है ...

रचना त्रिपाठी said...

सुन्दर!

संध्या शर्मा said...

बहुत प्यारी, सुन्दर कविता ....

अरुण कुमार निगम (mitanigoth2.blogspot.com) said...

सुन्दर बाल गीत के लिये बधाई............

Dilbag Virk said...

सुंदर बाल कविता .............प्रकाशन हेतु बधाई

राजीव कुमार झा said...

बहुत सुंदर.

ब्लॉग बुलेटिन said...

ब्लॉग बुलेटिन आज की बुलेटिन, थम गया हुल्लड़ का हुल्लड़ - ब्लॉग बुलेटिन , मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

सुशील कुमार जोशी said...

वाह ।

expression said...

बहुत प्यारी कविता

स्नेह
अनु

Maheshwari kaneri said...

बहुत प्यारी सी कविता

vibha rani Shrivastava said...

मुझे भी गिलहरी बहुत पसंद है
ये कविता भी बहुत ही पसंद आई
God ब्लेस्स you

Digamber Naswa said...

गिलहरी जैसी ही प्यारी सी रचना ...

Suman said...

बहुत प्यारी रचना लिखी है मम्मा ने,
बहुत बहुत बधाई उनको :)

हिमकर श्याम said...

हम सब की प्यारी गिलहरी... बहुत प्यारी बाल कविता है. सुंदर प्रस्तुति के लिए सस्नेह बधाई.

संजय भास्‍कर said...

सुन्दर बाल गीत

Post a Comment

There was an error in this gadget