चैतन्य शर्मा

My photo
मैं चैतन्य एक बहुत अच्छा बच्चा हूँ | मैं 12 साल का हूँ | मुझे ड्राइंग-कलरिंग करना बहुत पसंद है | मैं क्लास VIII में पढ़ता हूँ और माँ को कभी परेशान नहीं करता | मुझे डांस करना बेहद पसंद है | स्कूल में मुझे सब बहुत पसंद करते हैं | यह ब्लॉग 10 साल पहले मेरी माँ डॉ. मोनिका शर्मा ने बनाया था । अब मैं खुद अपने पोस्ट ब्लॉग पर शेयर करता हूँ । इस ब्लॉग पर मैं अपनी सारी बातें शेयर करूंगा |

Sunday, August 17, 2014

ओ कान्हा सिखलाओ ना

जन्माष्टमी की शुभकामनाएं आप सभी को । आज मेरी बनाई कान्हा की ड्राइंग और मां की लिखी कविता ।


कैसे जीतें  जीवन रण को 
उल्लासित करलें हर क्षण को
ओ कान्हा सिखलाओ ना

कैसे झट मैया को मना लें 
प्यारी प्यारी बातें बना लें
ओ कान्हा बतलाओ ना

संकट में भी मुस्काएं हम
रीति नीति सब पायें हम
ओ कान्हा समझाओ ना

सखा भाव को कभी ना भूलें
प्रकृति माँ की गोद में झूलें
ओ कान्हा सिखलाओ ना



20 comments:

प्रभात said...
This comment has been removed by the author.
Dr.NISHA MAHARANA said...

waah dono lajawaav ........sundar combination ....

Jyoti khare said...

बहुत सुन्दर और भावुक अभिव्यक्ति

जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाऐं ----
सादर --

कृष्ण ने कल मुझसे सपने में बात की -------

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक' said...

बहुत सुन्दर प्रस्तुति।
--
आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा कल मंगलवार (19-08-2014) को "कृष्ण प्रतीक हैं...." (चर्चामंच - 1710) पर भी होगी।
--
श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

डॉ. मोनिका शर्मा said...

@ डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'
हार्दिक आभार

Mohd. Arshad Khan said...

सुंदर गीत --जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाऐं

कविता रावत said...

बहुत सुन्दर ड्राइंग और साथ ही सुन्दर प्रेरक गीत !
सभी को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनायें!
.

Surendra shukla" Bhramar"5 said...

प्रिय चैतन्य जी सुन्दर छवि कान्हा की और अच्छी रचना कान्हा प्रभु बाल सखा हैं सब सिखाएंगे
जय श्री कृष्ण जय श्री राधे
भ्रमर ५

Kunwar Kusumesh said...

lovely sketch,beta Chaitanya.
जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाऐं

मन के - मनके said...

सुंदर---बाल-सुलभ

संजय भास्‍कर said...

बहुत सुन्दर ........... श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनायें!

कालीपद "प्रसाद" said...

बहुत सुन्दर चित्र ! सुन्दर निवेदन !
ईश्वर कौन हैं ? मोक्ष क्या है ? क्या पुनर्जन्म होता है ? (भाग २ )

मीनाक्षी said...

बहुत खूब , ये तो कान्हा चैतन्य हैं खडे़ होने के अन्दाज़ से , यहाँ नटखट अदा तो पीले फूलों का चित्र बनाते हुए गंभीर मुद्रा !

प्रभात said...

बहुत सुन्दर ड्राइंग............

प्रभात said...

क्षमा करें ...कुछ तकनीकी प्रयोग के चलते मेरा पहला कमेंट हट गया!

BLOGPRAHARI said...

आपका ब्लॉग देखकर अच्छा लगा. अंतरजाल पर हिंदी समृधि के लिए किया जा रहा आपका प्रयास सराहनीय है. कृपया अपने ब्लॉग को “ब्लॉगप्रहरी:एग्रीगेटर व हिंदी सोशल नेटवर्क” से जोड़ कर अधिक से अधिक पाठकों तक पहुचाएं. ब्लॉगप्रहरी भारत का सबसे आधुनिक और सम्पूर्ण ब्लॉग मंच है. ब्लॉगप्रहरी ब्लॉग डायरेक्टरी, माइक्रो ब्लॉग, सोशल नेटवर्क, ब्लॉग रैंकिंग, एग्रीगेटर और ब्लॉग से आमदनी की सुविधाओं के साथ एक सम्पूर्ण मंच प्रदान करता है.
अपने ब्लॉग को ब्लॉगप्रहरी से जोड़ने के लिए, यहाँ क्लिक करें http://www.blogprahari.com/add-your-blog अथवा पंजीयन करें http://www.blogprahari.com/signup .
अतार्जाल पर हिंदी को समृद्ध और सशक्त बनाने की हमारी प्रतिबद्धता आपके सहयोग के बिना पूरी नहीं हो सकती.
मोडरेटर
ब्लॉगप्रहरी नेटवर्क

Maheshwari kaneri said...

बहुत सुन्दर प्रस्तुति..शुभकामनाएं सहित..

Himkar Shyam said...

बढ़िया ड्राइंग, सुंदर गीत...कृष्ण की कृपा सदा रहे...!!जय श्री कृष्ण!!

Suman said...

बढ़िया रचना है मम्मा की, आपकी ड्राईंग तो हमेशा सुन्दर होती है
दोस्त, बधाई शुभकामनायें :)

abhi said...

बहुत अच्छा है चैतन्य...तुम्हारी ड्राइंग भी और कविता भी :)

Post a Comment