चैतन्य शर्मा

My photo
मैं चैतन्य एक बहुत अच्छा बच्चा हूँ | मैं 12 साल का हूँ | मुझे ड्राइंग-कलरिंग करना बहुत पसंद है | मैं क्लास VIII में पढ़ता हूँ और माँ को कभी परेशान नहीं करता | मुझे डांस करना बेहद पसंद है | स्कूल में मुझे सब बहुत पसंद करते हैं | यह ब्लॉग 10 साल पहले मेरी माँ डॉ. मोनिका शर्मा ने बनाया था । अब मैं खुद अपने पोस्ट ब्लॉग पर शेयर करता हूँ । इस ब्लॉग पर मैं अपनी सारी बातें शेयर करूंगा |

Saturday, July 9, 2011

प्यारे चैतन्य को समर्पित मेरी नयी कविता..!





नन्हा सा प्यारा चैतन्य , 
इसको पाकर जग है धन्य . 

होनहार है , समझदार है , 
यह तो खुद ही पुरस्कार है . 
                                                               
   जिसको भी अपनाता है  ,

                         खुशियाँ उसे लुटाता है . 


मन में सुख भर देता है , 
यह खुशियों का नेता है . 

इसका जलवा ! क्या कहना ! 
यों ही सदा सक्रिय रहना .

यों ही सबको भाना जी , 
जग में नाम कमाना जी . 





डॉ. नागेश पांडेय 'संजय'
हिंदी के बाल साहित्यकार ,
 बाल साहित्य समीक्षक एवं कवि ; 
शिक्षा : एम्. ए. {हिंदी, संस्कृत }, एम्. काम. एम्. एड. , पी. एच. डी. [विषय : बाल साहित्य के समीक्षा सिद्धांत }, स्लेट [ हिंदी, शिक्षा शास्त्र ] ;
सम्प्रति : प्राध्यापक एवं विभागाद्यक्ष , बी. एड. राजेंद्र प्रसाद पी. जी. कालेज , मीरगंज, बरेली . 
. प्रतिष्ठित पत्र- पत्रिकाओं में बच्चों के लिए कहानी , कविता , एकांकी , पहेलियाँ और यात्रावृत्त प्रकाशित . रचनाओं के अंग्रेजी, पंजाबी , गुजराती , सिंधी , मराठी , नेपाली , कन्नड़ , उर्दू , उड़िया आदि अनेक भाषाओं में अनुवाद .
 अनेक रचनाएँ दूरदर्शन तथा आकाशवाणी के नई दिल्ली , लखनऊ , रामपुर केन्द्रों से प्रसारित .

प्रकशित पुस्तकें :-
१. नेहा ने माफ़ी मांगी २. आधुनिक बाल कहानियां ३. अमरुद खट्टे हैं ४.मोती झरे टप- टप ५. अपमान का बदला ६. भाग गए चूहे ७.दीदी का निर्णय ८.मुझे कुछ नहीं चहिए ९.यस सर नो सर
बालकाव्य : १.चल मेरे घोड़े २.अपलम चपलम ; बाल एकांकी : छोटे मास्टर जी ;सम्पादित : १.न्यारे गीत हमारे २. किशोरों की श्रेष्ठ कहानियां ३.बालिकाओं की श्रेष्ठ कहानियां
आलोचना ग्रन्थ : बाल साहित्य के प्रतिमान , कविता संग्रह : तुम्हारे लिए 

ब्लाग :- http://abhinavsrijan.blogspot.com/   http://baal-mandir.blogspot.com/



यह कविता नागेश पाण्डेय 'संजय' अंकल ने लिख भेजी है मेरी ओर से उन्हें हार्दिक धन्यवाद ....आभार , इतनी प्यारी कविता के लिए....!

17 comments:

दर्शन कौर धनोय said...

बेहद सुंदर तोहफा मिला है आज चैतन्य को ..बधाई हो ?

गौरव शर्मा "भारतीय" said...

chaitnya ke liye likhi gayi yah kavita vakai behtarin hai aur iske liye chaitanya ko badhai evam lekhak mahoday ke prati aabhaar...

vijai Rajbali Mathur said...
This comment has been removed by the author.
vijai Rajbali Mathur said...

चैतन्य को मुबारकवाद ,नागेश जी की कविता उत्तम है.

यशवन्त माथुर (Yashwant Raj Bali Mathur) said...

बहुत बढ़िया कविता लिखी है नागेश जी ने.
God Bless you Chaitanya!

Love-

डॉ. नागेश पांडेय संजय said...

चैतन्य सबको प्रिय है . इस कविता के बहाने मैंने सभी की भावनाओं को प्रदर्शित करने की चेष्टा की है . सराहना के लिए मैं सभी के प्रति हार्दिक आभार व्यक्त करता हूँ .

सुज्ञ said...

बहुत सुन्दर स्नेह है चैतन्य के लिए!!
बधाई!! चैतन्य इस पुरस्कार के लिए।

मदन शर्मा said...

बधाई हो चैतन्य !

अभी मैं नेट पर इतना सक्रिय नहीं … पुनः आपकी छूटी हुई पोस्ट्स पढ़ने आऊंगा …
हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं !

मदन शर्मा said...

बधाई हो चैतन्य !

अभी मैं नेट पर इतना सक्रिय नहीं … पुनः आपकी छूटी हुई पोस्ट्स पढ़ने आऊंगा …
हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं !

Kailash Sharma said...

बहुत सुन्दर रचना..शुभकामनायें !

रेखा said...

बहुत प्यारी रचना ...हमारे प्यारे चैतन्य के लिए ....बहुत -बहुत बधाई हो आपको

Sawai Singh Rajpurohit said...

प्रिय चैतन्य वाह सुंदर तोहफा मिला है!नागेश जी की कविता बहुत बढ़िया

Shalini kaushik said...

nagesh ji ne bahut sundar tohfa tumhe diya hai chaitanya to aapka ye kam bhi unke liye kisi aabhar se kam nahi .ek se badhkar ek kam kiya hai dono ne badhai.

Dr. Zakir Ali Rajnish said...

नागेश भाई ने चैतन्‍य के लिए सचमुच बहुत प्‍यारी कविता लिखी है। बधाई।

------
TOP HINDI BLOGS !

Chaitanyaa Sharma said...

Ap Sabka Abhar mere blog par aane ka...

Roshi said...

jitna sunder chiytanya utni sunder kavita

प्रवीण पाण्डेय said...

दोनों को बधाई, कवि को और शीर्षक को।

Post a Comment