चैतन्य शर्मा

My photo
मैं चैतन्य एक बहुत अच्छा बच्चा हूँ | मैं 12 साल का हूँ | मुझे ड्राइंग-कलरिंग करना बहुत पसंद है | मैं क्लास VIII में पढ़ता हूँ और माँ को कभी परेशान नहीं करता | मुझे डांस करना बेहद पसंद है | स्कूल में मुझे सब बहुत पसंद करते हैं | यह ब्लॉग 10 साल पहले मेरी माँ डॉ. मोनिका शर्मा ने बनाया था । अब मैं खुद अपने पोस्ट ब्लॉग पर शेयर करता हूँ । इस ब्लॉग पर मैं अपनी सारी बातें शेयर करूंगा |

Monday, May 28, 2012

डायनासोर म्यूजियम की सैर.....

मुझे डायनासोर बहुत पसंद हैं । कुछ  पहले मेरी एक पोस्ट  आई ललललव डायेनासोर्स में मैंने आप सबको बताया था कि मेरी सभी चीज़ें ऐसी हैं जिनपर डायनासोर बने हैं । हाल   ही में माँ -पापा मुझे ड्रमहेलर लेकर गए जहाँ डायनासोर्स के बरसों पुराने फॉसिल  सहेजे गए हैं । यहाँ एक  बड़ा सा म्यूजियम  है जहाँ  डायनासोर्स के कई सारे जीवाश्म (फॉसिल ) देखने को मिले । इन्हें यहाँ बहुत  ही अच्छे ढंग  सहेजा गया है । 


म्यूजियम  के बाहर
एक  विशालकाय  फॉसिल   
डायनासोर के अण्डों के  फॉसिल    
देखिये कितने लम्बे थे डायनासोर के पांव 
एक  फॉसिल  यह भी ....
यह भी ....  
कुछ ऐसा भी जो बहुत मजेदार लगा ..

यह भी देखिये ..
               डायनासोर के एम्ब्रियो का जीवाश्म 

डायनासोर म्यूजियम  का  यह  ट्रिप  बहुत  मजेदार रहा । मुझे डायनासोर्स के बारे में कई सारी बातें भी पता चलीं । 

20 comments:

Smart Indian said...

ट्रिप मज़ेदार रही यह जानकर खुशी हुई. हमारे पिट्सबर्ग में भी बड़े सारे डायनासोर हैं।

vijai Rajbali Mathur said...

अच्छा तो लगा पर बड़े होने पर भी याद रखना-भूलना नहीं।

यशवन्त माथुर (Yashwant Raj Bali Mathur) said...

बहुत बढ़िया चैतन्य ।
बहुत अच्छा लगा।

abhi said...

वाह!!!डायनासोर म्युजिअम भी घूम आए...लगता है गर्मियों में खूब घूमना हो रहा है...
और डायनासोर के बारे में क्या बातें पता चली, ये तो तुमने बताया ही नहीं यार...खैर मस्ती करो!! :)

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक' said...

बहुत सुन्दर चित्रावली।
इस पोस्ट की चर्चा आज के चर्चा मंच पर भी तो लगी है।

मेरा मन पंछी सा said...

wow||
little brother bahut maja kar rahe ho..aur ye pics bhi bahut acche hai...
:-)

प्रसन्नवदन चतुर्वेदी 'अनघ' PBChaturvedi said...

सुन्दर चित्रण...उम्दा प्रस्तुति...बहुत बहुत बधाई...

प्रवीण पाण्डेय said...

बाप रे, इतने बड़े बड़े डायनासोर..

Kailash Sharma said...

वाह ! बहुत सुन्दर और रोचक पोस्ट...

शिवम् मिश्रा said...

थैंक्स चैतन्य ... आज तुम्हारे साथ साथ मैं भी घूम लिया ... आओ अब बाकीओ को भी घुमवा दें ... ;-)


इस पोस्ट के लिए आपका बहुत बहुत आभार - आपकी पोस्ट को शामिल किया गया है 'ब्लॉग बुलेटिन' पर - पधारें - और डालें एक नज़र - सब खबरों के बीच एक खुशखबरी – ब्लॉग बुलेटिन

Coral said...

बहुत सुन्दर.... चिन्मयी को भी डायनासोर बहुत पसंद है !
आशा है तुम्हे गर्मी की छुट्टिय लग गयी होंगी...Happy vacation !

G.N.SHAW said...

चलिए आप के माध्यम से मुझे भी बहुत जानकारी मिल गयी !आप को बहुत - बहुत बधाई जी !

यशवन्त माथुर (Yashwant Raj Bali Mathur) said...

कल 04/06/2012 को आपकी यह पोस्ट http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्वागत है .
धन्यवाद!

yashoda Agrawal said...

छिपकली के नाना हैं
ये डायनोसार

सदा said...

बहुत ही अच्‍छी प्रस्‍तुति।

कल 13/06/2012 को आपकी इस पोस्‍ट को नयी पुरानी हलचल पर लिंक किया जा रहा हैं.

आपके सुझावों का स्वागत है .धन्यवाद!


'' छोटे बच्‍चों की बड़ी दुनिया ''

Rakesh Kumar said...

नई पुरानी हलचल में आपके
डायनासोरों ने खूब हलचल मचाई है.

हम भी यू एस में ओर्लंडों के डिजनी पार्क की
animal kingdom में डायनासोर
लैंड में भी गए थे.डायनासोर राइड में
बैठ कर मजा भी आया और डर भी लगा.

Anupama Tripathi said...

वाह ....सुंदर जानकारी दी है चैतन्य ....
अब छुटियों मे खूब घूमों और हमें भी घुमाओ...हम भी तुम्हारे साथ-साथ घूम रहे हैं ... ....!!

Dr.NISHA MAHARANA said...

waah maja aa gaya.....

अनुभूति said...

वह वाह !!चैतन्य आप डायनासोर म्युजिअमभी घूम आये ..ओर हमारे लिए इतनी जीवंत तस्वीरें भी लाये
आपको ढेर सारा दुलार ::))) , आपके पापा जी ओर माँ जी को बहुत बहुत आभार !!!

Mukta Dutt said...

bahut hi sundar :)

Post a Comment