चैतन्य शर्मा

My photo
मैं चैतन्य एक बहुत अच्छा बच्चा हूँ | मैं 12 साल का हूँ | मुझे ड्राइंग-कलरिंग करना बहुत पसंद है | मैं क्लास VIII में पढ़ता हूँ और माँ को कभी परेशान नहीं करता | मुझे डांस करना बेहद पसंद है | स्कूल में मुझे सब बहुत पसंद करते हैं | यह ब्लॉग 10 साल पहले मेरी माँ डॉ. मोनिका शर्मा ने बनाया था । अब मैं खुद अपने पोस्ट ब्लॉग पर शेयर करता हूँ । इस ब्लॉग पर मैं अपनी सारी बातें शेयर करूंगा |

Tuesday, July 10, 2012

करुणामय, हे रूद्र, महेश्वर



हे अचल, अविनाशी भोले 
हमको तेरी शरण मिले 
करुणामय,  हे रूद्र, महेश्वर 
मन में प्रेम की ज्योत जले 
(ये पंक्तियाँ माँ ने लिखी हैं  )









कैसा लगा आप सबको मेरा कलरिंग वर्क ......

20 comments:

Anupama Tripathi said...

एक तो तुम्हारी ड्रॉइंग बहुत सुंदर ...फिर उसपर मम्मी ने इतना सुंदर लिखा है ...सोने पे सुहागा है ...!!

रविकर said...

बहुत सुन्दर |
सादर नमन ||

प्रवीण पाण्डेय said...

वाह, माँ बेटे की जुगलबन्दी.

Maheshwari kaneri said...

सुन्दर ड्रॉइंग के साथ माँ के भी सुन्दर भाव ..दोनो की जुगलबंदी बहुत अच्छी रही..्शुभकामनाएं..

दिगम्बर नासवा said...

जबरदस्त ... क्या मस्त रंग किये हैं .. और मम्मी ने बहुत सुन्दर लिखा है ... जय भोले नाथ की ...

अशोक सलूजा said...

हर-हर महादेव .....
बहुत सुंदर ..
खुश रहो !
आशीर्वाद!

मेरा मन पंछी सा said...

बहुत अच्छी चित्रकारी...
जय भोलेनाथ...
:-)

यशवन्त माथुर (Yashwant Raj Bali Mathur) said...

बहुत बढ़िया

vijai Rajbali Mathur said...

तुम्हारी ड्राइंग उसकी कलरिंग और प्रस्तुत प्रार्थना सभी अच्छे हैं।

Sawai Singh Rajpurohit said...

वाह .बहुत सुन्दर चित्र.

Sawai Singh Rajpurohit said...

बढ़िया प्रस्तुति!
हर-हर महादेव व जय बम भोले..

केवल राम said...

काव्य और कला का अद्भुत संगम .....!

अजय कुमार झा said...

आपने पोस्ट लिखी ,हमने पढी , हमें पसंद आई , हमने उसे सहेज़ कर कुछ और मित्र पाठकों के लिए बुलेटिन के एक पन्ने पर पिरो दिया । आप भी आइए और मिलिए कुछ और पोस्टों से , इस टिप्पणी को क्लिक करके आप वहां पहुंच सकते हैं

ऋता शेखर 'मधु' said...

चित्र और कविता का सुंदर समायोजन...माँ-बेटे दोनों को बधाई !!

abhi said...

वाह...तुम्हारी ड्राविंग तो हर दिन और सुन्दर होते जा रही है...
कविता के बारे में तुम ना भी कहते तो समझ जाते की तुमने तो नहीं ही लिखी होगी ये कविता :) :)

सदा said...

वाह ... बहुत ही बढिया।

Surendra shukla" Bhramar"5 said...

प्रिय चैतन्य जी ..वाह भाई वाह आप तो चित्रकारी भी गजब की कर लेते हैं शुभ कामनाएं जय शिव शंकर ... मन अभिभूत हुआ भ्रमर ५

India Darpan said...

बहुत ही बेहतरीन और प्रशंसनीय प्रस्तुति....


इंडिया दर्पण
पर भी पधारेँ।

lori said...

उह्हो! शोना बेटे की ड्राइंग तो कित्ती प्यारी है !!!!
मुह्ह्ह! बहुत सारा प्यार !

Vandana Ramasingh said...

nice work chaitanya keep it up

Post a Comment